Monday, August 17, 2009

माँ भारती की जय कहो .../ maa bharti ki jai kaho



पढने के लिए कृपया क्लिक करें ....

padne ke liye plz click this image..



देह में जो खून है  जोश और जुनून है
एक साथ मिलकर माँ भारती की जय कहो
रगों में गर पानी है तो चुप चाप बैठे रहो
नहीं तो सब मिलकर  माँ भारती की जय कहो
भारती के लाल हो तो एक बात ठान लो
देश पर जो आँख उठे उस आँख को निकाल लो
शत्रु चाहे कितनी भी कूटनीति कर ले
फन को कुचलने की नीति गाँठ बाँध लो
सारे अश्त्र चल गए एक दावं बाकी है
पाक को मिटाने हेतु थूकना ही काफी है
जोश और जुनून साथ होश हमें चाहिए
इस बार करांची और लाहौर हमें चाहिए
धोखा देने वाला पाक बच नहीं पायेगा
छेड़ेगा तिरंगे को तो फिर पछतायेगा
उलटी गिनती गिन क्योकि वो दिन दूर नहीं
जिस दिन ये तिरंगा पाक में लहराएगा


नीरज पाल

deh mein jo khoon hai josh aur junoon hai
ek saath milkar maa bhaarti ki jai kaho
ragon mein gar paani hai toh chupchap baithe raho
nahi toh sab milkar maa bharti ki jai kaho
bhaarti ke laal ho toh ek baat thaan lo
desh par jo aankh uthe uss  aankh ko nikaal  lo
satru chahe kitni bhi kootniti karle
fan ko kuchlane ki niti gaath baand lo
saare astr chal gaye ek daawn baaki hai
paak ko kuchlne hetu thookna hi kaafi hai
josh aur junoon saath hosh hamein chahiye
iss baar karanchi aur lahaor hame chahiye
dhokha dene wala pak bach nahi payega
chedega tirange toh fir pachtayega
ulti ginti gin kyuki vo din doooor nahi
jisdin Tiranga poore paak mein lahrayega

Neeraj Pal






Post a Comment