Tuesday, June 30, 2009

अभी बाकी है..../ abhi baaki hai




तारो की तरह मुझे भी चमकना अभी बाकी है

सूरज की तरह मुझे भी दहकना अभी बाकी है



दुःख, दर्द, गम, जलन और तपन है जिन्दगी

जिन्दगी की राह में चलना आभी बाकी है

जिन्दगी की आग में तप चुका हु मै बहुत

उसी तपन के बाद तो निखरना अभी बाकी है

एक खुशी मिली जो मुझे उस खुशी से ऊब गया

गम के साथ जीने की आदत अभी बाकी है

टूट टूट कर चूर चूर हो गया हूँ मै


थका नही हूँ तनिक, की लड़ना अभी बाकी है 
.....


taaron ki tarah mujhe bhi chamakna abhi baaki hai
suraj ki tarah mujhe bhi dahakna abhi baaki  hai


dukh dard gam jalan aur tapan hai zindgi hai
zindgi ki raah mein chalna abhi baaki hai


zindgi ki aag mein tap chuka hoon mai bahut
usi tapan ke baad toh nikharna abhi baaki hai


ek khushi mili jo mujhe uss khushi se oob gya
gam ke saath jeene ki aadat abhi baaki hai


toot toot kar choor choor ho gya hoon mai
thaka nahi hoon tanik, ladna abhi baaki hai
Post a Comment